Wholesale price inflation: अगस्त में बढ़ी महंगाई, थोक महंगाई दर बढ़कर 0.16 फीसद पर आई

Wholesale price inflation इससे पहले जुलाई में थोक महंगाई दर (-) 0.58 फीसद पर थी। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से सोमवार को थोक महंगाई दर के आंकड़े जारी किये गए हैं। PC Pexels

pawan jayaswal

September 15, 2020

Biz

Business

1 min

zeenews

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। थोक महंगाई दर में अगस्त महीने में बढ़ोत्तरी हुई है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, अगस्त महीने में थोक महंगाई दर बढ़ोत्तरी के साथ 0.16 फीसद रही है। इससे पहले जुलाई में थोक महंगाई दर (-) 0.58 फीसद पर थी। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से सोमवार को थोक महंगाई दर के आंकड़े जारी किये गए हैं।

अगस्त से पहले लगातार चार महीनों तक थोक महंगाई दर नेगेटिव रही थी। थोक महंगाई दर के आंकड़े हर महीने की 14 तारीख को जारी किये जाते हैं। थोक महंगाई दर जुलाई में -0.58 फीसद पर रही थी। वहीं, यह जून में -1.81 फीसद पर रही थी।

अगस्त महीन में डब्ल्यूपीआई इंडेक्स में अधिकांश हिस्सा रखने वाले विनिर्मित सामानों के थोक मूल्य में 0.59 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है जिससे यह 119.3 (अनंतिम) पर आ गया है। यह जुलाई, 2020 में 118.6 (अनंतिम) पर था।

अगस्त महीने में जुलाई महीने की तुलना में खाद्य उत्पादों, पेय पदार्थों, चमड़ा और संबंधित उत्पादों, लकड़ी व लकड़ी के उत्पादों, दर्ज मीडिया की छपाई और रि-प्रोडक्शन, दवाईयों, औषधीय रसायन और वनस्पति उत्पादों, बुनियादी धातुओं, विद्युत उपकरणों, औजारों व परिवहन उपकरणों की कीमतों में वृद्धि दर्ज की गई।

उद्योग विभाग ने एक बयान में कहा, ‘अगस्त महीने में 10 समूहों के अंदर कीमतों में गिरावट भी देखी गई। ये हैं, तंबाकू उत्पादों का निर्माण, वस्त्र, कागज और कागज उत्पाद, रसायन और रासायनिक उत्पाद, रबर और प्लास्टिक उत्पाद, अन्य गैर-धातु खनिज उत्पाद, मशीनरी के अलावा धातु उत्पाद, उपकरण, कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक और ऑप्टिकल उत्पाद और फर्नीचर। वहीं, अगस्त में मोटर वाहनों और ट्रेलरों व अर्ध-ट्रेलरों की कीमतें अपरिवर्तित रहीं।

यह भी पढ़ें (SBI FD Interest Rates: एसबीआई ने एफडी पर ब्याज दरों में किया बदलाव, जानिए क्या हैं नई दरें)

Related News

More Loader