संयुक्त राष्ट्र के महासचिव गुटेरस बोले- कोरोना महामारी संकट ने आपदा में अवसर को पैदा किया

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने कहा है कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी एक त्रासदी है लेकिन इसने आपदा में अवसर को भी पैदा किया है। उन्होंने सरकारों और व्यवसायों से मिलकर काम करने का आग्रह किया है।

shashank pandey

September 25, 2020

America

World

1 min

zeenews

वाशिंगटन, आइएएनएस। दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी का संकट तेजी से बढ़ता जा रहा है। इससे निपटने के लिए दुनिया के सभी देशों की सरकार जुटी हुई है। कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन जैसे उपाय भी अपनाए गए, जिसके काफी आर्थिक परिणाम सामने आए। लेकिन एक वक्त के बाद धीरे-धीरे सभी देशों की अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है। हालांकि अभी भी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

कोरोना महामारी संकट के बीच संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस(UN Secretary General Antonio Guterres) ने कहा है कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी एक त्रासदी है, लेकिन इसने आपदा में अवसर को भी पैदा किया है। उन्होंने नवाचारों और परिवर्तन को बढ़ावा देने के लिए सरकारों और व्यवसायों से मिलकर काम करने का आग्रह किया है। 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स(Sustainable Development Goals) बिजनेस फोरम पर गुटेरस के एक वीडियो संदेश में कहा कि यह संकट का घड़ी है। कोरोना महामारी ने 75 साल पहले संयुक्त राष्ट्र के गठन के बाद से सबसे गंभीर सामाजिक और आर्थिक उथल-पुथल को जन्म दिया है।

पुराने सिस्टम पर लौटना सवाल से बाहर है। उन्होंने कहा कि महामारी एक त्रासदी है, लेकिन इसने संभावना का एक क्षण भी पैदा किया है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि सरकारों और निजी क्षेत्र ने अपने काम करने के तरीकों को पहले से कहीं अधिक तेज़ी से बदल दिया है। उन्होंने कहा कि हर जगह, हम नई सोच, नवाचार और परिवर्तन देख रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सरकारों और व्यवसायों से दिशा बदलने के लिए एक साथ काम करने का आग्रह किया, उन्होंने कहा कि यह महामारी भविष्य के लिए लचीलापन बनाने और एसडीजी को प्राप्त करने का एकमात्र तरीका है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि समानता, समावेशिता और स्थिरता अब एक बेहतर कार ब्रांड का निर्माण करने के लिए अच्छा नहीं है, वैकल्पिक अतिरिक्त है

Related News

More Loader