Bihar Assembly Elections 2020 : दरभंगा की गौड़ाबौराम सीट पर मंत्री मदन सहनी का खेल बिगाड़ सकते नए खिलाड़ी, उनके किले पर युवा चेहरों का दावा

Bihar Assembly Elections 2020 खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के मंत्री मदन सहनी हैं गौड़ाबौराम से विधायक। अंदरखाने के लोग बताते हैं कि इस बार मंत्री की किलेबंदी पर स्थानीय मुद्दे और जातीय समीकरण हावी हो सकते हैं। टिकट बंटवारा भी कई के भविष्य को तय करेगा।

ajit kumar

September 24, 2020

Politics

State

1 min

zeenews

दरभंगा, [ संजय कुमार उपाध्याय ]। Bihar Assembly Elections 2020 : दरभंगा की वीआइपी सीट गौड़ाबौराम। लोग चुनावी रंग में रंगने को तैयार हैं। टिकट बंटवारा भले ही शेष है, फिर भी मतदाता मुद्दों की कसौटी पर चुनावी वीरों को कसने को तैयार हैं। वर्ष 2015 के चुनाव में यहां से जीते जदयू के मदन सहनी सूबे के खाद्य आपूॢत एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के मंत्री हैं। उन्होंने पांच साल में क्या-क्या किया, जनता के मन में है। अंदरखाने के लोग बताते हैं कि इस बार मंत्री की किलेबंदी पर स्थानीय मुद्दे और जातीय समीकरण हावी हो सकते हैं। परिसीमन के बाद गौड़ाबौराम अस्तित्व में आया। पहले से स्थापित घनश्यामपुर का नाम विलोपित हो गया। इसके हिस्से गौड़ाबौराम और किरतपुर प्रखंड के अलावा बिरौल की 14 पंचायतें आईं। चुनावी रणभूमि में कूदे योद्धाओं ने यहां खूब मेहनत की। लेकिन, लोजपा का दामन छोड़ डॉ. इजहार अहमद जदयू के टिकट पर बाजी मार गए। राजद के महावीर प्रसाद यादव दूसरे स्थान पर रहे। कांग्रेस के डॉ. नागेश्वर पंजियार को तीसरा स्थान मिला। हालांकि, राजद और कांग्रेस के बीच मात्र पांच हजार मतों का अंतर रहा।

2015 में मंत्री मदन सहनी पहुंचे ससुराल

2015 के विस चुनाव के पहले भाजपा-जदयू के बीच का गठबंधन टूट चुका था। नतीजा मदन सहनी को बहादुरपुर (घर की विधायकी) छोड़ गौड़ाबौराम आना पड़ा। यह इलाका उनका ससुराल क्षेत्र है। लोगों ने जीत के साथ पाहुन (दामाद) की खातिरदारी की। मदन दोबारा विधायक बने तो शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें मंत्री बना दिया। उन्होंने पांच साल इलाके में अपनी पकड़ मजबूत की। साथ ही, बहादुरपुर से भी नाता रखा। इस बार समीकरण बदल चुके हैं। भाजपा-जदयू साथ हैं। चर्चा तो यह भी है कि यह सीट किसी के लिए आसान नहीं रही। समय के साथ बहुत कुछ बदला है। ऐसे में टिकट बंटवारा भी कई के भविष्य को तय करेगा।

नए खिलाड़ी बिगाड़ सकते खेल

इस बार के चुनाव में कई नए योद्धा इस विधानसभा सीट पर ताल ठोंक रहे हैं। राष्ट्रीय जनता दल के युवा नेता संजय कुमार सिंह उर्फ पप्पू सिंह ने कोरोना संक्रमण के वक्त जागरूकता व सैनिटाइजेशन अभियान के तहत लोगों से खूब संवाद किया है। मजबूत जमीन तैयार की है। इससे पहले सड़क आदि बनवाने की दिशा में भी खूब हाथ-पांव मारे हैं। इस बीच भाजपा युवा मोर्चा के क्षेत्रीय प्रभारी राजीव ठाकुर ने भी कम पसीने नहीं बहाए हैं। इन दोनों के बीच बदले समीकरण में सीट पर जदयू के मंत्री का कब्जा है। अब यहां कौन सा फार्मूला फिट बैठेगा, वक्त बताएगा।  

Related News

More Loader