छोटी बेगम का 43 साल पहले लिखा पत्र आया सामने, डेढ़ लाख परिवारों की संपत्तियों पर खतरा

बेगम आफताब जहां ने कराची से भारत सरकार के सचिव और ऑफिसर इंचार्ज कस्टोडियन शत्रु संपत्ति केंद्रीय गृह मंत्रालय को 2 मई 1977 को यह पत्र लिखा था।

manish pandey

September 16, 2020

Films

1 min

zeenews

भोपाल, जेएनएन। भोपाल की लगभग डेढ़ लाख परिवारों की संपत्तियां एक बार फिर खतरे की जद में हैं। दरअसल, नवाब हमीदुल्लाह खान की छोटी बेगम आफताब जहां का 43 साल पहले 1977 में लिखा एक पत्र सामने आया है, जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी कोई संतान नहीं है। भारत में स्थित उनकी सभी संपत्तियां सरकार के सुपुर्द कर दी जाएं। इस पत्र पर यदि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने संज्ञान लिया तो भोपाल के विभिन्न इलाकों में स्थित करीब 15 हजार करोड़ की संपत्तियां शत्रु संपत्ति घोषित की जा सकती हैं।

बेगम आफताब जहां ने कराची से भारत सरकार के सचिव और ऑफिसर इंचार्ज कस्टोडियन शत्रु संपत्ति, केंद्रीय गृह मंत्रालय को 2 मई 1977 को यह पत्र लिखा था। उनकी मृत्यु वर्ष 2000 में हुई थी। पत्र पर कार्रवाई हुई तो भोपाल के ईदगाहहिल, जहांगीराबाद, ऐशबाग, कोहेफिजा, हलालपुर, लालघाटी, बोरबन, बेहटा और लाऊखेड़ी यानी उपनगर बैरागढ़ में दो तिहाई आबादी के क्षेत्र में रहने वाले हजारों परिवारों की संपत्तियां केंद्र सरकार की हो जाएंगी। वर्तमान में इन क्षेत्रों में लोग हिबानामा के जरिए संपत्ति खरीदकर रह रहे हैं।

छोटी बेगम कe 43 साल पहले लिखा पत्र आया सामने, डेढ़ लाख परिवारों की संपत्तियों पर खतरा

सूचना अधिकार कार्यकर्ता मधुदास बैरागी ने एक सितंबर को प्रधानमंत्री कार्यालय, केंद्रीय गृहमंत्री, देश के प्रधान न्यायाधीश, प्रदेश के मुख्य सचिव और भोपाल कलेक्टर को एक पत्र लिखा है। पत्र में बेगम की संपत्ति को अधिगृहित करने का आग्रह किया गया है।

आरटीआइ के तहत मिला था पत्र

मधुदास बैरागी को बेगम का पत्र शत्रु संपत्ति मुख्यालय मुंबई से जुलाई माह में सूचना के अधिकार के तहत मिला था। इस पत्र का हवाला देते हुए बैरागढ़ तहसीलदार गुलाब बघेल ने हिबानामा का एक प्रकरण एक अगस्त को निरस्त किया था।

कोर्ट में विचाराधीन है मामला

इसके पहले वर्ष 2013 में भोपाल में शत्रु संपत्ति घोषित होने का मामला सामने आया था। तब आबिदा सुल्तान को नवाब हमीदुल्लाह खान का एकमात्र उत्तराधिकारी मानते हुए उनकी समस्त संपत्ति को शत्रु संपत्ति घोषित किया गया था। नवाब के अन्य वारिसों में शामिल अभिनेत्री शर्मिला टैगोर, सैफ अली खान आदि ने इसके खिलाफ मप्र हाई कोर्ट में याचिका लगाई थी, जो अभी लंबित है। कोर्ट ने शत्रु संपत्ति कार्यालय के आदेश पर स्टे दिया हुआ है।

अविनाश लवानिया, कलेक्टर भोपाल

अभी हमें इस तरह का कोई पत्र नहीं मिला है। पत्र मिलने पर उसकी सत्यता की जांच कराई जाएगी। इसके बाद ही कोई वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

Related News

More Loader