असेंबली प्लांट बंद होने के बाद भारत में 1 लाख रुपये तक महंगी हो सकती हैं Harley-Davidson बाइक्स

काफी समय से आ रही मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात की आशंका जताई जा रही थी कि कम होती बिक्री की वजह से कंपनी भारत से अपना कारोबार समेट सकती है लेकिन कंपनी की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया था।

sajan chauhan

September 26, 2020

Automobile

Latest News

1 min

zeenews

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। अमेरिकन क्रूजर बाइक निर्माता कंपनी Harley-Davidson ने भारत में अपना असेंबली प्लांट बंद कर दिया है। जानकारी के अनुसार लगातार घटती बिक्री इस बड़े फैसले की वजह बनी। कंपनी भारत में अपने तय लक्ष्य के हिसाब से बिक्री नहीं कर पा रही थी। साथ ही कोरोना महामारी और मंदी की वजह से भी कंपनी को काफी नुकसान झेलना पड़ा और आखिर में कंपनी को भारत में अपने असेंबली ऑपरेशंस बंद करने पड़े।

काफी समय से आ रही मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात की आशंका जताई जा रही थी कि कम होती बिक्री की वजह से कंपनी भारत से अपना कारोबार समेट सकती है लेकिन कंपनी की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया था।

अब असेंबली ऑपरेशंस बंद होने के बाद भारत में मौजूद कंपनी की डीलरशिप्स को Harley-Davidson बाइक्स थाईलैंड से इम्पोर्ट करनी पड़ सकती हैं और तब जाकर भारत में इन्हें खरीदा जा सकता है। भारत में ये बाइक्स तभी खरीदी जा सकती हैं जब इन्हें इम्पोर्ट किया जाए।

बढ़ जाएगी बाइक की कीमत: अब भारत में Harley-Davidson का असेंबली प्लांट बंद हो चुका है और ऐसे में अब कंपनी की बाइक्स को थाईलैंड से इम्पोर्ट किया जा सकता है। इससे सीधे तौर पर बाइक्स की कीमत में इजाफा होगा। दरअसल भारत में Harley-Davidson बाइक्स को इम्पोर्ट किया जाएगा तो इसके लिए इम्पोर्ट ड्यूटी भी भरनी पड़ेगी। ऐसा कहा जा रहा है कि इम्पोर्ट करने के वजह से भारत में बिकने वाली Harley-Davidson की बाइक्स अब पहले से 50,000 से 1,00,000 रुपये तक महंगी हो जाएंगी। ग्राहकों को Harley-Davidson बाइक्स खरीदने के लिए अब ज्यादा कीमत अदा करनी पड़ेगी।

Harley-Davidson को भारत में एंट्री किए हुए एक दशक का समय बीत चुका था और तब से लेकर अब तक कंपनी सिर्फ 27,000 यूनिट्स बेचने में ही सफल रही। कंपनी को ग्रोथ ना मिलने की वजह से लगातार नुकसान झेलना पड़ रहा था और आखिरकार कंपनी ने भारत में अपना कारोबार समेटने का फैसला ले लिया।

भारत में मौजूद हार्ले-डेविडसन बाइक लवर्स को इस फैसले से झटका तो लगा है लेकिन इम्पोर्ट होने की वजह से आने वाले समय में भी ज्यादा रकम चुकाकर इस बाइक को खरीदा जा सकेगा।

Related News

More Loader