सुबह नाश्ते में दलिया खाने के हैं बहुत लाभ, कई बीमारियों से बचाएगा आपको

डालिये का सेवन तो आप सभी करते ही होंगे। ये जितना स्वादिष्ट होता है उससे कहीं ज्यादा ये हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन कम लोग इसे खाना पसंद करते हैं।  दलिये का सेवन आपके स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। अमूमन लोग दलिये का सेवन नाश्ते में करते हैं। दलिया […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

Lifestyle

1 min

zeenews

डालिये का सेवन तो आप सभी करते ही होंगे। ये जितना स्वादिष्ट होता है उससे कहीं ज्यादा ये हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन कम लोग इसे खाना पसंद करते हैं।  दलिये का सेवन आपके स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। अमूमन लोग दलिये का सेवन नाश्ते में करते हैं। दलिया विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है। इसके अलावा इसमें लो कैलोरी और फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आज हम आपको बताएंगे डालिये खाने के फायदों के बारे में। 
सीलिएक रोग मे फायदेमंद: दोस्तों सीलिएक रोग एक ऐसा रोग होता है ,जो छोटी आंत को नुकसान पहुंचाता है। इसकी वजह से शरीर के अंदर पोषण तत्वों की कमी हो जाती है। लेकिन यदि आप गेहूं का बना दलिया खाते हैं तो आपको इस रोग से आराम मिल सकता है।वजन कम होना, ब्लोटिंग, पेट फूलना, डायरिया, कब्ज, पेट दर्द इस रोग के लक्षण होते हैं। हालांकि सभी प्रकार के गेहूं कि किस्मे इसके अंदर उपयुक्त नहीं होती हैं।
कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करें: आजकल कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या आम है। दलिया में घुलनशील और अघुलनशील दोनों ही फाइबर पाए जाते हैं। शरीर में उच्च मात्रा में फाइबर होने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित रहती है। जिससे व्यक्ति को हृदय रोग होने की संभावना न के बराबर रहती है। एक शोध से भी साफ हो चुका है जो लोग प्रतिदिन दलिये का सेवन करते हैं।
ब्रेस्ट कैंसर से बचाने मे उपयोगी:दोस्तों दलिया के अंदर उच्च मात्रा के अंदर फाइबर पाया जाता है और यह महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाने का काम करता है। जिन महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर की समस्या है। उनको दलिया खाना चाहिए।
हड्डियों को दें मजबूती; आजकल हड्डियों में कमजोरी आम समस्या है। मैग्नीशियम और कैल्शियम का खजाना होने के कारण दलिये का नियमित सेवन हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। दलिया का नियमित सेवन करने वालों को उम्र दराज होने पर जोड़ों के दर्द की शिकायत नहीं होती। 
पाचन मे काफी मददगार होता है: आमतौर पर जब किसी का ऑपरेशन वैगरह करवाया जाता है तो गेहूं का दलिया ही सबसे पहले दिया जाता है। इसका कारण यह है कि यह पचने मे बहुत ही आसान होता है। और आपकी आंतों को इसके लिए कोई कठिन कार्य नहीं करना पड़ता है।‌‌‌जिन लोगों को भोजन ठीक से नहीं पचता है उनको गेहूं का बना दलिया का सेवन करना चाहिए।
हीमोग्लोबिन बढ़ाए: आयरन की कमी से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है। हीमोग्लोबिन कम होने से शरीर में कमजोरी और थकान की शिकायत आम हो जाती है। दलिया आयरन का अच्छा स्रोत है, जो शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बैलेंस करता है।

Related News

More Loader