कोरोना के स्रोत की खोज पर चीन और डब्ल्यूएचओ की संयुक्त रिपोर्ट मूल्यवान है

22 जुलाई की सुबह एक प्रेस वार्ता में चीनी राजकीय स्वास्थ्य व चिकित्सा आयोग के उप महानिदेशक छंग यीशिन ने बताया कि 30 मार्च को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने औपचारिक रूप से विश्व में कोरोना के स्रोत की जांच में चीनी पक्ष की संयुक्त अध्ययन रिपोर्ट जारी की, जिसने कोरोना के स्रोत के पड़ताल के […]

dainiksaveratimes

July 23, 2021

International

Politics

1 min

zeenews

22 जुलाई की सुबह एक प्रेस वार्ता में चीनी राजकीय स्वास्थ्य व चिकित्सा आयोग के उप महानिदेशक छंग यीशिन ने बताया कि 30 मार्च को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने औपचारिक रूप से विश्व में कोरोना के स्रोत की जांच में चीनी पक्ष की संयुक्त अध्ययन रिपोर्ट जारी की, जिसने कोरोना के स्रोत के पड़ताल के लिए एक अच्छी शुरुआत की। उस समय के बाद अधिकाधिक वैज्ञानिक प्रमाणों से जाहिर है कि यह रिपोर्ट मूल्यवान और प्रतिष्ठित है, जो वैज्ञानिक और ऐतिहासिक परीक्षा पर खरी उतरी है।

उन्होंने बताया कि डब्ल्यूएचओ का विशेषज्ञ दलों ने चीन की यात्रा में वुहान वायरस अध्ययन संस्थान, हुआनान सीफूड बाजार समेत सभी जगहों का दौरा किया, जहां वे जाना चाहते थे। विशेषज्ञों ने सभी व्यक्तियों से मुलाकात की, जिन्हें वे मिलना चाहते थे।

उन्होंने बताया कि संयुक्त विशेषज्ञ दल ने कोरोना के निकलने की कई संभावनाएं निर्धारित कीं। पहला, मानव और जानवर की समान बीमारी से पैदा होना अधिक संभावना है। दूसरा, मध्यम होस्ट से निकलना अपेक्षाकृत संभावना से बड़ी संभावना है। तीसरा, कॉल्ड चेन से वायरस का आना संभावित है। और अंतिम, प्रयोगशाला से आना अत्यंत असंभावना है।

छंग यूशिन ने बताया कि चीनी भाग की रिपोर्ट में जो और संपूर्ण बनाने की जरूरत है, हम संबंधित इकाइयों और वैज्ञानिकों के कार्य का सक्रिय समर्थन करते हैं और समय पर डब्ल्यूएचओ को रिपोर्ट करेंगे। दूसरी तरफ, चीनी भाग की रिपोर्ट ने अगले चरण में बहुदेशीय और बहुक्षेत्रीय अध्ययन के लिए दिशा दिखायी है। (साभार—चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)    

Related News

More Loader