कोरोना वैक्सीन के पेटेंट में अस्थायी छूट दी जाय- डब्ल्यूएचओ

दुनिया में कोरोना वायरस की संक्रमण दर बढ़ने और वैक्सीन की किल्लत को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस अधनोम घेब्रेयसस और पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन ने 3 मई को कोरोना रोधी वैक्सीन के पेटेंट नियमों में अस्थायी रूप से छूट देने की अपील की। टेड्रोस ने उस दिन एक ऑनलाइन […]

dainiksaveratimes

May 5, 2021

International

Politics

1 min

zeenews

दुनिया में कोरोना वायरस की संक्रमण दर बढ़ने और वैक्सीन की किल्लत को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस अधनोम घेब्रेयसस और पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन ने 3 मई को कोरोना रोधी वैक्सीन के पेटेंट नियमों में अस्थायी रूप से छूट देने की अपील की।

टेड्रोस ने उस दिन एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पिछले दो हफ्तों में दुनिया में नए पुष्ट हुए मामलों की संख्या महामारी की शुरुआत के बाद के पहले छह महीनों में दर्ज किए गए नए मामलों की संख्या से अधिक है। भारत और ब्राजील में पिछले सप्ताह दर्ज नए मामलों की संख्या दुनिया में संक्रमित मामलों की कुल संख्या के आधे से अधिक है कई देशों में बहुत नाजुक परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।

यदि बहुसंख्यक वयस्कों को झुंड प्रतिरक्षा (हर्ड इम्युनिटी) प्राप्त करने के लिए टीका लगाया जाना है, तो आवश्यक टीकों की संख्या मौजूदा मात्रा से बहुत अधिक होनी चाहिए टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए, अस्थायी रूप से कोरोना वैक्सीन के पेटेंट अधिकारों में छूट देना बहुत महत्वपूर्ण है, और यह एक “दान का मुद्दा” नहीं है”।

ब्राउन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन के पेटेंट अधिकारों की अस्थायी छूट से अफ्रीका और अन्य स्थानों पर टीके का उत्पादन करने में मदद मिल सकती है जहां अभी तक टीके का उत्पादन नहीं हुआ है। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका और भारत सहित कई देशों ने वैश्विक स्तर पर टीके का उत्पादन करने के लिए कोरोना वैक्सीन के पेटेंट नियमों की अस्थायी छूट देने का आह्वान किया है। 

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )

Related News

More Loader