Rajasthan के CM Gehlot ने PM Modi को लिखा पत्र, पेट्रोल-डीजल एवं रसोई गैस की कीमतों में कमी लाने की मांग की

जयपुर : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल एवं डीजल की बेतहाशा बढ़ती कीमतों तथा रसोई गैस सिलेंडर पर दी जाने वाली सब्सिडी समाप्त करने पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए महंगाई से त्रस्त आमजन को तत्काल राहत दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है।  गहलोत ने लिखा है कि […]

dainiksaveratimes

July 22, 2021

National

1 min

zeenews

जयपुर : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल एवं डीजल की बेतहाशा बढ़ती कीमतों तथा रसोई गैस सिलेंडर पर दी जाने वाली सब्सिडी समाप्त करने पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए महंगाई से त्रस्त आमजन को तत्काल राहत दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। 

गहलोत ने लिखा है कि देश के बीपीएल परिवारों को स्वच्छ ईंधन मुहैया कराने के लिए केंद्र ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना शुरु की थी, लेकिन रसोई गैस के दाम बढ़ने के कारण यह योजना गरीब परिवारों को राहत देने में विफल साबित हो रही है। कोविड के कारण आजीविका के संकट से जूझ रहे गरीब रसोई गैस पर अनुदान समाप्त करने के कारण सिलेण्डर के दाम चुकाने में असमर्थ हो गए हैं। इसके चलते सिलेण्डर रिफिल कराने वाले उपभोक्ताओं के प्रतिशत में निरंतर कमी आ रही है, जो गंभीर चिंता का विषय है।

 

उन्होंने कहा कि सब्सिडी समाप्त करने से घरेलू रसोई गैस की कीमतों में जो बढ़ोत्तरी हुई है, वह उपभोक्ताओं के लिए असहनीय है। इससे लोगों के घर का बजट गड़बड़ा गया है और लोगों के लिए गैस सिलेण्डर रिफिल करवाना बूते से बाहर होता जा रहा है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2013 के जनवरी माह में घरेलू गैस के एक सिलेण्डर की कीमत 865 रुपए थी, जिस पर 477 रुपए की सब्सिडी मिल रही थी। उस समय एक गैस सिलेण्डर के लिए उपभोक्ता को मात्र 388 रुपए ही खर्च करने होते थे। 

बीते 18 महीने से उपभोक्ताओं को सब्सिडी नहीं दी जा रही है। मजबूरन गरीब एवं मध्यम-वर्गीय परिवारों की महिलाएं खाना पकाने के लिए लकड़ी एवं अन्य परम्परागत ईंधन का उपयोग कर रही हैं। इससे उनके स्वास्थ्य एवं पर्यावरण पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। गहलोत ने कहा कि रसोई गैस तथा पेट्रोल एवं डीजल के बढ़ते आर्थिक भार से आम जनता में असंतोष है। इनकी बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण करने के लिए केंद्र सरकार उचित कदम उठाए और कोविड के कारण पहले से ही आर्थिक संकट से जूझ रहे लोगों को राहत प्रदान करे।   

 

Related Topics

Related News

More Loader