किसान आंदोलन पर बोलीं केंद्रीय मंत्री Meenakshi Lekhi- ‘किसान नहीं, मवाली हैं आंदोलनकारी’

नई दिल्ली: कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के बारे में केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने तल्ख टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि ‘वे किसान नहीं मवाली हैं। उन्होंने कहा कि देश जानता है कि 26 जनवरी को क्या हुआ था। ये सारा प्रदर्शन राजनीतिक एजेंडे के तहत चल रहा है। उन्होंने कहा कि […]

dainiksaveratimes

July 22, 2021

National

1 min

zeenews

नई दिल्ली: कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के बारे में केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने तल्ख टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि ‘वे किसान नहीं मवाली हैं। उन्होंने कहा कि देश जानता है कि 26 जनवरी को क्या हुआ था। ये सारा प्रदर्शन राजनीतिक एजेंडे के तहत चल रहा है। उन्होंने कहा कि किसान सिर्फ बिचौलियों की मदद कर रहे हैं। मीनाक्षी की नजरों में किसान आंदोलन की आड़ में पॉलिटिकल एजेंडे को धार दी जा रही है। बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ आज से जंतर-मंतर पर शुरू हए आंदोलन के दौरान मीडियाकर्मियों से मारपीट हुई जिसके बाद मीनाक्षी लेखी का यह बयान सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, यहां प्रदर्शन के दौरान एक वीडियो जर्नलिस्ट पर हमला किया गया। मीडियाकर्मी को इलाज के लिए पास के ही अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने हमलावर को पकड़ा लिया है लेकिन अभी तक उसकी पहचान जाहिर नहीं हुई है।

हम किसानों के साथ बातचीत करने के लिए तैयार- तोमर
केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी के बयान के उल्ट किसानों के प्रदर्शन के बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज कहा कि देश गवाह है कि ये कृषि कानून बेहद जरूरी और किसानों के हित में हैं। हमने इन कानूनों पर विस्तृत चर्चाएं की हैं। अगर किसान इन कानूनों को लेकर अपनी समस्या बिंदुवार रखते हैं तो हम बातचीत के लिए तैयार हैं।

पन्ने फाड़ने के मामले पर भड़कीं मीनाक्षी लेखी
वहीं राज्यसभा में गुरुवार को संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव के बयान देने के दौरान विपक्षी नेताओं द्वारा पन्ने फाड़ने के मामले पर मीनाक्षी लेखी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस व कांग्रेस के सदस्यों की हरकत शर्मनाक है। वे इतने नीचे गिर जाएंगे कि वे देश की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने वाले काम करेंगे। पेगासस जासूसी मामला फेक न्यूज है। इससे देश की छवि खराब हुई है। आज सदन में सदस्यों ने जवाब देते वक्त मंत्री के हाथ से पन्ने छीन लिए, यह घटिया हरकत है।

Related Topics

Related News

More Loader