ममता बनर्जी का केंद्र पर वार, कहा- BJP की वजह से खतरे में आजादी, एजेंसियों का होता है गलत इस्तेमाल

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) आज राष्ट्रीय स्तर पर शहीद दिवस मना रही है। टीएमसी के गठन के बाद से हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस खास मौके पर ममता बनर्जी ने वर्चुअल संबोधन में कहा कि सरकार पेगासस […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

National

1 min

zeenews

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) आज राष्ट्रीय स्तर पर शहीद दिवस मना रही है। टीएमसी के गठन के बाद से हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस खास मौके पर ममता बनर्जी ने वर्चुअल संबोधन में कहा कि सरकार पेगासस के जरिए स्पाइगीरी दिखा रही है, लेकिन इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है। ममता ने कहा कि नेताओं, पत्रकारों और जजों के फोन पेगासस स्पाईवेयर के जरिए ट्रैप किए गए, ये ठीक नहीं है। ये सरकार पेगासस पर पैसे खर्च कर रही है जनता पर नहीं। हमारी कोशिश देश को बचाना है। मैंने अपना फोन प्लास्टर कर दिया है। हमें भी केंद्र पर प्लास्टर करना चाहिए नहीं तो देश तबाह हो जाएगा। 

PM मोदी-शाह पर लगाया आरोप
ममता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर गंभीर आरोप लगाया कि आप एजेंसियों को इस्तेमाल कर के विपक्ष को परेशान करते हैं लेकिन बंगाल ने आपको हरा दिया, जितना नीचे गिरना था आप नीचे गिरे। उन्होंने कहा कि BJP के लोग तानाशाही चाहते हैं। वे कार्यक्रम आयोजित नहीं करने दे रहे हैं। त्रिपुरा में उन्होंने हमारे लोगों को रैली नहीं करने दी। क्या ये लोकतंत्र है? ममता ने कहा कि यूपी में नदियों में डेड बॉडीज बह रही थीं और प्रधानमंत्री कहते हैं, यूपी बेस्ट स्टेट है। शर्म आनी चाहिए। ममता ने कहा कि ये सरकार सेंट्रल एजेंसी का मिस यूज करती है। इस सरकार को अपने मंत्रियों पर भी विश्वास नहीं है।

जब तक देश से बीजेपी नहीं हटती, तब तक होगा ‘खेला’ 
उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी के चलते बहुत लोगों की मौत हुई है और सरकार कहती है कि ऑक्सीजन कमी से मौत नहीं हुई है। कोरोना की तीसरी लहर की भी कोई तैयारी केंद्र ने नहीं की है। उन्होंने कहा कि जब तक देश से बीजेपी नहीं हटती, तब तक सभी राज्यों में ‘खेला’ चलेगा। हम 16 अगस्त को ‘खेला दिवस’ मनाएंगे। बता दें कि ये पहली बार है जब ममता बनर्जी का भाषण 21 जुलाई को राज्य की सीमाओं से परे अन्य राज्यों में भी प्रसारित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का भाषण दिल्ली, उत्तर प्रदेश और त्रिपुरा में पार्टी मुख्यालय के बाहर एलईडी टीवी पर सुना जा रहा है। यही नहीं गुजरात के भी 32 जिलों में ममता बनर्जी के भाषण का एलसीडी स्क्रीन लगाकर प्रसारण का इंतजाम तृणमूल कांग्रेस की ओर से किया गया है। दिल्ली के आयोजन में दूसरे राजनीतिक दलों के नेताओं को भी बुलाया गया है।

Related News

More Loader