Jaishankar और Blinken Covid Vaccine की उत्पादन क्षमता को बढ़ाने पर करेंगे चर्चा

न्यूयॉर्कः भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने लंदन में अपनी बैठक के दौरान कोविड -19 वैक्सीन उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर चर्चा की हैं। राज्य विभाग द्वारा वितरित उनकी टिप्पणियों की एक प्रतिलेख के अनुसार जयशंकर ने सोमवार को अपनी बैठक के बाद कहा कि उन्होंने ‘‘चर्चा की कि […]

dainiksaveratimes

May 4, 2021

International

Politics

1 min

zeenews

न्यूयॉर्कः भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने लंदन में अपनी बैठक के दौरान कोविड -19 वैक्सीन उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर चर्चा की हैं। राज्य विभाग द्वारा वितरित उनकी टिप्पणियों की एक प्रतिलेख के अनुसार जयशंकर ने सोमवार को अपनी बैठक के बाद कहा कि उन्होंने ‘‘चर्चा की कि हमारे सहयोग कैसे टीकाकरण क्षमताओं का विस्तार करने में विश्व स्तर पर मदद कर सकते हैं। 
मंत्री ने कहा कि जिन कई विषयों पर हमने चर्चा की, उनमें से पहला और सबसे महत्वपूर्ण कोविड की स्थिति से निपटने के लिए हमें अमेरिका से मिल रहा मजबूत समर्थन है। ब्लिंकेन ने कहा कि हमें अच्छी तरह से याद हैं जब भारत ने कोविड के शुरूआती दिनों में बहुत महत्वपूर्ण और शक्तिशाली तरीके से हमारी सहायता की थी और हम उस लड़ाई में एक साथ शामिल हुए थे साथ ही हम जो मदद कर सकते थे उसे निर्धारित किया गया और फिर दो देश वास्तव में वैश्विक चुनौती है, जिसे इससे निपटने में मदद करने के लिए और भी अधिक निकटता से काम करना जारी रखना होगा।’’
अमेरिका ने कोविड -19 मामलों में विनाशकारी वृद्धि से लड़ने के लिए भारत को 100 मिलियन डॉलर की सहायता देने का वादा किया है और पहले से ही ऑक्सीजन सिलेंडर और सांद्रता के चार प्लेनलोड और रेमडेसिविर जैसी महत्वपूर्ण दवाओं को भेजा है। जयशंकर जी7 विदेश मंत्रियों की बैठक में अतिथि के रूप में लंदन में हैं। विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि ब्लिंकन ने जलवायु संकट और भारत-प्रशांत क्षेत्र में मुख्य भागीदार के रूप में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका की पुष्टि की हैं।
उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में और जी7 अतिथि देश के रूप में, बहुपक्षीय मंचों में सहयोग को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा की हैं। जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘हमारी बैठक में भारत-प्रशांत, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, म्यांमार और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे भी शामिल हैं।’’  अमेरिकी वायु सेना द्वारा भारत को अमेरिकी सहायता का परिवहन संभालने के साथ, पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को आश्वासन दिया है कि ‘‘हम मदद करने के लिए जो कुछ भी कर सकते हैं करते रहेंगे।’’
‘‘तीन अमेरिकी वायु सेना सी -5 सुपर गैलेक्सीज और एक सी -17 ग्लोबमास्टर महत्वपूर्ण आपूर्ति देने के लिए जारी है। तीसरा विमान आज (सोमवार) को भारत में आएगा और चौथी उड़ान कल आएगी।’’ उन्होंने कहा कि एक बार जब सभी चार मिशन पूरे हो जाएंगे तो चारों विमानों ने ऑक्सीजन की क्षमताओं और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों के मामले में बहुत आवश्यक, महत्वपूर्ण आपूर्ति, दोनों के टन वितरित किए होंगे और जाहिर है हम आगे बढ़ने वाली स्थिति का आकलन करना जारी रखेंगे। 
   

Related News

More Loader