IPL 2020: कुंबले के गुरु मंत्र से RCB के खिलाफ सफल हुए रवि बिश्नोई, युवा स्पिनर को दी अहम सलाह

किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के युवा स्पिनर रवि बिश्नोई का कहना है कि टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने उन्हें एक गेंदबाज के तौर पर शांत रहने और अपने कौशल पर ध्यान देने की सलाह दी है। 20 साल के इस स्पिनर ने बैंगलोर के खिलाफ शानदार गेंदबाजी की।

tanisk

September 26, 2020

Apni baat

Cricket

1 min

zeenews

 दुबई, पीटीआइ। किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के युवा स्पिनर रवि बिश्नोई का कहना है कि टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने उन्हें एक गेंदबाज के तौर पर हमेशा शांत रहने और अपने कौशल पर ध्यान देने की सलाह दी है। 20 साल के इस स्पिनर ने गुरुवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के खिलाफ चार ओवर में 32 रन देकर तीन विकेट लिए और टीम को 97 रनों से जीत दिलाने में अहम योगदान दिया। 

रवि ने मैच के बाद कहा कि अनिल सर ने मुझे बहुत कुछ करने की कोशिश न करने और मैदान पर हमेशा शांत रहने की सलाह दी है। वह इस मैच में विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे बड़े बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए काफी सहज दिखे। इसे लेकर जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हमने आइपीएल से पहले एक लंबा कैंप किया। इस दौरान मैं खुद को मानसिक रूप से तैयार कर रहा था। यहां सभी का स्किल लेवल एक जैसा है। इसलिए मेरा मुख्य फोकस मानसिक रूप से मजबूत होने पर था। मैंने निश्चिय किया कि मैं ढीली गेंद नहीं करूंगा, जिससे उन्हें मुझ पर अटैक करने का मौका मिलेगा। हमने यहां टूर्नामेंट से पहले अपने शिविर में अच्छी तैयारी की। हम मानसिक तौर पर मजबूत होने पर कमजोर गेंद न करने पर ध्यान दे रहे थे। 

मैच में आरसीबी की टीम 109 रनों पर ऑलआउट हो गई। इसे लेकर रवि ने कहा कि हम उन्हें जल्द से जल्द आउट करने की कोशिश कर रहे थे। हम मैदान पर आए तो हम सोच रहे थे कि हमें 180 रनों के लक्ष्य बचाव करना है। टीम के कप्तान केएल राहुल ने इस मैच में 69 गेंदों पर नाबाद 132 रनों की शानदार  पारी खेली। बिश्नोई ने अपने कप्तान के पारी को लेकर कहा कि वह तकनीकी तौर काफी मजबूत बल्लेबाज हैं। हर कोई उनकी शॉट्स को बार-बार देखना चाहता है। मैच में कोहली ने राहुल के दो कैच छोड़े, जो काफी महंगा साबित हुआ। इसे लेकर उनके साथी खिलाड़ी युजवेंद्र चहल ने कहा कि इस मैदान पर गेंद को स्पॉट करना मुश्किल हो रहा था। अभ्यास के दौरान भी ऐसा हुआ। अन्य मैदानों की तुलना में यहां थोड़ी मुश्किल हुई।

Related News

More Loader