बात-बात पर गाली देने वालों के लिए जरूरी खबर

कई सारे ऐसे लोग होते हैं, जिन्हें बात-बात पर गालियां निकालने की आदत होती है. हमेशा गाली बकने वालों को हम गंदा समझते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि इससे आपका दिमाग स्वस्थ रहता है. हम आज आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं जो गाली तथा स्वास्थ्य से संबंधित है. अगर ना चाहते […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

Ajab Ghazab

1 min

zeenews

कई सारे ऐसे लोग होते हैं, जिन्हें बात-बात पर गालियां निकालने की आदत होती है. हमेशा गाली बकने वालों को हम गंदा समझते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि इससे आपका दिमाग स्वस्थ रहता है. हम आज आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं जो गाली तथा स्वास्थ्य से संबंधित है. अगर ना चाहते हुए भी आपके मुंह से गाली निकल जाती है, तो आपको शर्मिंदगी करने की कोई जरूरत नहीं है. इससे आपका दिमाग कई तरह के फ्रस्ट्रेशन को दूर कर देता है. कई गालियों को हम जाने अनजाने देते रहते हैं. अपने दोस्तों के सामने भी कई बार हम गाली निकाल देते हैं. इससे आपके दोस्त गुस्सा भी हो जाते हैं. अक्सर हम देखते हैं कि गालियां देने के बाद हमें कुछ सुकून मिलता है. इससे हम थोड़ा रिलेक्स भी फील करते हैं. लगता है कि जैसे दिल पर रखा कोई बोझ हल्का हो गया है. लेकिन हम जब बचपन में किसी को गाली दे देते थे तो मांं-पापा से जमकर पिटाई मिलती थी. 
कीन यूनिवर्सिटी ने एक स्टडी में बताया कि गाली देने से हमारे दिल को सुकून मिलता है. स्टडी के अनुसार, गाली देने से हमारी परेशानियों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है. यूनिवर्सिटी ने कुछ छात्रों के गाली देने पर रिसर्च की. स्टूडेंट्स के हाथों को इस दौरान अत्यधिक ठंडे पानी में डाला गया. जो छात्र इस प्रक्रिया के दौरान गाली दे रहे थे, वो अपना हाथ ज्यादा देर तक पानी में डाले रखने में सफल रहे.

Related News

More Loader