Credit Score कम है तो लोन में होगी दिक्कत, इन पांच बातों का रखें ध्यान

बैंक कम स्कोर वाले लोगों को लोन या क्रेडिट कार्ड देना पसंद नहीं करते क्योंकि वे अपने पैसे से उन पर भरोसा नहीं करते हैं। कम स्कोर होने के बावजूद यदि आपको कार्ड या लोन मिलता है तो आपकी क्रेडिट सीमा कम हो सकती है

nitesh

September 25, 2020

Business

Top15

1 min

zeenews

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Credit Score को बढ़िया बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। अच्छे क्रेडिट स्कोर वाले ग्राहकों के लिए बैंक कम ब्याज दर पर भी लोन की पेशकश करते हैं। यह लोन मिलने में ग्राहक की बहुत मदद करता है। क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाए रखना कोई मुश्किल काम नहीं है। क्रेडिट स्कोर 3 अंकों की संख्या है जो बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों में व्यक्ति के साख को बताता है। क्रेडिट स्कोर की गणना आपके क्रेडिट हिस्ट्री का उपयोग करके की जाती है, जिसमें आपके पेमेंट हिस्ट्री, आपके द्वारा उपयोग किए गए लोन या क्रेडिट कार्ड, आदि की जानकारी शामिल होती है।

बैंक कम स्कोर वाले लोगों को लोन या क्रेडिट कार्ड देना पसंद नहीं करते, क्योंकि वे अपने पैसे से उन पर भरोसा नहीं करते हैं। कम स्कोर होने के बावजूद यदि आपको कार्ड या लोन मिलता है, तो आपकी क्रेडिट सीमा कम हो सकती है या आपको बहुत अधिक ब्याज दर चुकानी पड़ सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहें हैं, जिनके जरिए आप अपना क्रेडिट स्कोर बेहतर कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि आपके क्रेडिट स्कोर को सुधारने के आसान तरीके कौन-कौनसे हैं।

क्रेडिट रिपोर्ट की जांच: क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने के लिए अपनी क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करते रहें। ऐसा करने से आपको अपनी रिपोर्ट में गलतियों की पहचान करने में मदद मिलेगी। यदि आप अपनी रिपोर्ट में गलतियां पाते हैं, तो आपको इसे तुरंत ठीक करवाना चाहिए।

बकाये का भुगतान: एक बेहतर क्रेडिट स्कोर के लिए यह बहुत जरूरी होता है कि ग्राहक समय पर अपने बकाया का भुगतान कर दें। अपने क्रेडिट कार्ड पेमेंट्स और अपनी मासिक ईएमआई का भुगतान ग्राहक को हमेशा समय पर कर देना चाहिए। 

क्रेडिट कार्ड CUR: सीयूआर क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो होता है। मसलन, अगर आपके कार्ड की लिमिट एक लाख है और आप एक महने में 50,000 रुपये खर्च करते हैं, तो आपका सीयूआर 50 फीसद होगा। अपने सीयूआर को 20 से 30 फीसद बनाए रखना एक आदर्श स्थिति होती है।

क्रेडिट यूटिलाइजेशन: क्रेडिट स्कोर की गणना करते समय इस कारक को ध्यान में रखा जाता है। आपके लिए उपलब्ध क्रेडिट की सीमा और इसका कितना आप उपयोग कर रहे हैं, यह क्रेडिट पैसे पर आपकी निर्भरता को दर्शाता है। हमेशा यह सलाह दी जाती है कि लोग अपने क्रेडिट उपयोग को 30% से कम रखें। इसलिए, यदि आपके पास कई क्रेडिट कार्ड हैं तो इस बात की जांच करें कि आप कितने पैसे क्रेडिट पर उपयोग कर रहे हैं। 

गैरजरूरी खरीदारी: बाजार में ग्राहकों को लुभाने के लिए अधिक ऑफर दिए जाते हैं, जिनके चक्कर में आकर कभी भी खरीदारी नहीं करनी चाहिए। यह ध्यान देना चाहिए कि कौन सी चीज आपकी जरूरत के लिए है और कौन सी चीज आपको सिर्फ पसंद आ रही है। आप सिर्फ वही खरीदें, जिसकी आपको जरूरत है। बाकि बचा हुआ पैसा क्रेडिट कार्ड के बकाया और अन्य लोन को चुकाने में लगाकर अपने क्रेडिट स्कोर में सुधार कर पाएंगे।

 

Related News

More Loader