Ladakh में 750 करोड़ की लागत से बनेगी सेंट्रल यूनिवर्सिटी, कैबिनेट ने दी मंजूरी

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी जिस पर 750 करोड़ रूपये की लागत आयेगी। सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह जानकारी दी। बैठक के बाद सूचना प्रसारण मंत्री ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई […]

dainiksaveratimes

July 22, 2021

National

1 min

zeenews

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी जिस पर 750 करोड़ रूपये की लागत आयेगी। सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह जानकारी दी। बैठक के बाद सूचना प्रसारण मंत्री ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला किया गया। इस पर 750 करोड़ रूपये लागत आयेगी।

छात्रों को मिलेगा उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका 
उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित होने से उच्च शिक्षा में क्षेत्रीय असंतुलन दूर करने में मदद मिलेगी और केंद्र शासित प्रदेश का सम्पूर्ण विकास सुनिश्चित किया जा सकेगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित होने से छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने का अधिक अवसर मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि इस विश्वविद्यालय का पहला चरण चार वर्षो में पूरा किया जायेगा। इसके अधिकार क्षेत्र में लेह, कारगिल क्षेत्र भी आयेंगे।

इसके अलावा केंद्रीय मंत्रिमंडल ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में लद्दाख इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (LIIDCO) की स्थापना को भी मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं के तहत इंटीग्रेटेड बहुउद्देशीय कॉर्पोरेशन की स्थापना का निर्णय भी लिया गया है। ये कॉर्पोरेशन लद्दाख में पर्यटन, उद्योग, परिवहन सुविधाओं के विकास और स्थानीय उत्पादों और हस्तशिल्प की मार्केटिंग जैसे महत्वपूर्ण कार्य और इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में करेगा।

PLI योजना को मंजूरी
इसके साथ ही सरकार ने पांच वर्षों में 6,322 करोड़ रुपये के प्रोत्साहन के साथ स्पेशलिटी स्टील के लिए उत्पादन-लिंक्ड प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दी है। सरकार के अनुसार इस परियोजना से उत्पादन बढ़ेगा, आयात कम होगा। कुल मिलाकर 39625 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित होगा। लगभग 5.25 रोज़गार के अवसर पैदा होंगे।

Related News

More Loader