BYJU’S ने Epic का 50 करोड़ डॉलर में किया अधिग्रहण, उत्तरी अमेरिकी में स्थिति मजबूत करने के लिये एक अरब डॉलर करेगी निवेश

नयी दिल्ली : शिक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी बायजूस ने बुधवार को कहा कि उसने बच्चों के लिये किताबें पढऩे के डिजिटल मंच एपिक का 50 करोड़ डॉलर (करीब 3,729.8 करोड़ रुपये) में अधिग्रहण किया है। कंपनी ने कुछ ही महीने पहले करीब एक अरब डॉलर में आकाश एजुकेशनल र्सिवसेज का अधिग्रहण किया था। […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

Business

1 min

zeenews

नयी दिल्ली : शिक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी बायजूस ने बुधवार को कहा कि उसने बच्चों के लिये किताबें पढऩे के डिजिटल मंच एपिक का 50 करोड़ डॉलर (करीब 3,729.8 करोड़ रुपये) में अधिग्रहण किया है। कंपनी ने कुछ ही महीने पहले करीब एक अरब डॉलर में आकाश एजुकेशनल र्सिवसेज का अधिग्रहण किया था। देश में मूल्यवान स्टार्टअप में से एक बायजूस उत्तरी अमेरिकी बाजार में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिये एक अरब डॉलर निवेश करेगी। बायजूस ने एक बयान में कहा कि उसने 12 साल और उससे कम उम्र के बच्चों के लिये किताबें पढऩे का डिजिटल मंच एपिक का 50 करोड़ डॉलर में अधिग्रहण किया है। बयान के अनुसार इस अधिग्रहण से कंपनी को अमेरिका में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी। इस अधिग्रहण से कंपनी अपनी सेवाएं एपिक के मौजूदा वैश्विक उपयोगकर्ताओं..20 लाख से अधिक शिक्षकों और 5 करोड़ से अधिक बच्चों को उपलब्ध करा सकेगी। कंपनी के उपयोगकर्ताओं की संख्या पिछले साल के मुकाबले दोगुनी से अधिक हो गयी है।
बयान के अनुसार एपिक के सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) सुरेन मार्कोसियन और सह-संस्थापक केविन डोन‘ू अपनी भूमिकाएं पूर्व की तरह निभाते रहेंगे। एपिक के पास दुनिया के 250 से अधिक सर्वश्रेष्ठ प्रकाशकों की 40,000 से अधिक पुस्तकों, ऑडियो पुस्तकों और वीडियो का संग्रह है। इसने शिक्षकों के लिये अपनी सेवा मुफ्त रखी है। करीब 20 लाख से अधिक शिक्षक ने कक्षा उपयोग के लिए उससे जुड़े हैं। कोविड महामारी के साथ भारत समेत दुनिया के विभिन्न देशों में शिक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र में तीव्र विकास देखा जा रहा है। बच्चे स्कूल और कॉलेज जाने के बजाय ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं, जिससे इस क्षेत्र में तेजी आयी है। कई कंपनियों ने कारोबार विस्तार के लिये निवेशकों से कोष जुटाया है। बायजूस ने पिछले साल अप्रैल से करीब 1.5 अरब डॉलर विभिन्न किस्तों में जुटाये। बायजूस ने जनरल अटलांटिक, सिकोया कैपिटल, चान-जुकरबर्ग इनिशिएटिव, नैस्पर्स, सिल्वर लेक और टाइगर ग्लोबल सहित बड़े निवेशकों से कोष जुटाया है। 
बायजूस 2015 में शुरू हुई और वैश्विक स्तर पर 10 करोड़ से अधिक छात्र-छात्रएं उसकी सेवाओं का उपयोग कर रहे हैं। वह विभिन्न श्रेणियों में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिये कंपनियों का अधिग्रहण कर रही है। पूर्व में, बायजू ने ट्यूटर विस्टा और एजु राइट (2017 में पियरसन से) और 2019 में ओस्मो का अधिग्रहण किया था। पिछले साल, कंपनी ने 30 करोड़ डॉलर में कोडिंग प्रशिक्षण मंच व्हाइटहैट जूनियर खरीदा था और इस साल अप्रैल में, कंपनी ने आकाश एजुकेशनल र्सिवसेज लिमिटेड का अधिग्रहण किया। बायजूस के संस्थापक और सीईओ बायजू रवीन्द्रन ने कहा, ‘‘एपिक के साथ हमारी साझेदारी हमें वैश्विक स्तर पर बच्चों के लिए आकर्षक और रुचिकर पढऩे और सीखने के अनुभव को साकार करने में मदद करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा मिशन जिज्ञसा को बढ़ावा देना और छात्रों को सीखने को लेकर लगाव पैदा करना है। एपिक और उसके उत्पाद इसी मिशन से जुड़े थे, ऐसे में यह कदम स्वाभाविक रूप से उपयुक्त था। संयुक्त रूप से, हमारे पास बच्चों के लिए पूरी उम्र सीखने वाला बनने के लिए प्रभावशाली अनुभव सृजित करने का अवसर है।’’

Related Topics

Related News

More Loader