Bakrid 2021: ईद-उल-अजहा में जानिए कुर्बानी के कुछ नियमों के बारे में

आज ईद-उल-अजहा यानि के बकरीद मनाई जा राइ है। ईद अल-अज़हा या बकरीद इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का एक प्रमुख त्यौहार है। माना जाता है के इस्लामिक मान्यता के अनुसार हज़रत इब्राहिम अपने पुत्र हज़रत इस्माइल को इसी दिन खुदा के हुक्म पर खुदा कि राह में कुर्बान करने जा रहे थे, […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

Religious

1 min

zeenews

आज ईद-उल-अजहा यानि के बकरीद मनाई जा राइ है। ईद अल-अज़हा या बकरीद इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का एक प्रमुख त्यौहार है। माना जाता है के इस्लामिक मान्यता के अनुसार हज़रत इब्राहिम अपने पुत्र हज़रत इस्माइल को इसी दिन खुदा के हुक्म पर खुदा कि राह में कुर्बान करने जा रहे थे, तो अल्लाह ने उसके पुत्र को जीवनदान दे दिया जिसकी याद में यह पर्व मनाया जाता है। आइए जानते है कुर्बानी के कुछ नियमों के बारे में : 
1. कुर्बानी सिर्फ हलाल पैसों से ही की जा सकती है, यानी जो पैसे जायज तरीके से कमाए गए हों।
2.- ईद-उल-जुहा के दिन कुर्बानी बकरे, भेड़, ऊंट और भैंस पर की जाती है।
3. कुर्बानी के समय जानवर को किसी भी तरह की चोट या बीमारी नहीं होनी चाहिए, वह बिल्कुल स्वस्थ होना चाहिए, क्योंकि इस्लाम धर्म में ऐसे जानवरों पर कुर्बानी जायज़ नहीं है।
4. कुर्बानी करते वक्त जानवर को किबला रुख लिटाकर दुआ पढ़ते हुए कुर्बान करना चाहिए।
5. कुर्बानी के गोश्त के 3 बराबर हिस्से करना चाहिए, जिनमें से 1 अपने घर के लिए, 2 रिश्तेदारों व दोस्तों के लिए और 3 गरीबों के लिए होना चाहिए।

Related News

More Loader