18 महीने बाद Rahul ने ठोका शतक, Jadeja भी चमके, दोनों ने टीम में की दावेदारी मजबूत

चेस्टर ली स्ट्रीटः भारतीय टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली और टेस्ट उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को मामूली चोट के कारण काउंटी एकादश (सिलेक्ट काउंटी इलेवन) के खिलाफ मंगलवार से शुरू हुए प्रथम श्रेणी अभ्यास मैच से आराम दिया गया। वहीं  भारतीय टीम के सालामी बल्लेबाज लोकेश राहुल की 101 रन की पारी के अलावा रविन्द्र जडेजा […]

dainiksaveratimes

July 21, 2021

Sports

1 min

zeenews

चेस्टर ली स्ट्रीटः भारतीय टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली और टेस्ट उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को मामूली चोट के कारण काउंटी एकादश (सिलेक्ट काउंटी इलेवन) के खिलाफ मंगलवार से शुरू हुए प्रथम श्रेणी अभ्यास मैच से आराम दिया गया। वहीं  भारतीय टीम के सालामी बल्लेबाज लोकेश राहुल की 101 रन की पारी के अलावा रविन्द्र जडेजा (75) के साथ 5वें विकेट के लिए उनकी 127 रन की साझेदारी के दम पर भारत ने काउंटी एकादश (सिलेक्ट काउंटी एकादश) के खिलाफ तीन दिवसीय अभ्यास मैच में मंगलवार को पहले दिन खेल खत्म होने तक 9 विकेट पर 306 रन बनाए। स्टंप्स के समय जसप्रीत बुमराह तीन और मोहम्मद सिराज एक रन बनाकर खेल रहे थे। राहुल 150 गेंद में 101 रन बनाकर रिटायर्ड आउट हुए। लगभग डेढ़ साल यानी 18 माह के बाद केएल राहुल ने शतक ठोका है। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और एक छक्का लगाया। उन्होंने इस पारी से भारतीय टीम में मध्यक्रम में जगह बनाने का अपना दावा मजबूत किया। जडेजा ने 146 गेंद की पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया। इससे पहले नियमित कप्तान विराट कोहली और टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे मामूली रूप से चोटिल होने के कारण भारतीय टीम का हिस्सा नहीं बने जबकि अनुभवी गेंदबाजों रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा को विश्राम दिया गया।
काउंटी एकादश टीम में भी चोट और कोविड-19 से जुड़े पृथकवास के कारण अपने खिलाड़ियों को गंवाने के बाद भारत के युवा खिलाड़ी आवेश खान और वाशिंगटन सुंदर इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की इस टीम की ओर से अपने ही देश की टीम के खिलाफ उतरे। भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन 10वें ओवर में वह कैच आउट हो गये। सलामी बल्लेबाजी के लिए उनके साथ क्रीज पर उतरे मयंक अग्रवाल ने इस दौरान कुछ आकर्षक चौके लगाये लेकिन वह भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे।
मयंक ने 35 गेंद की पारी में छह चौके की मदद से 28 रन बनाये। दिन के दूसरे सत्र में हालांकि भारतीय टीम को उस समय झटका लगा जब हनुमा विहारी के शॉट को रोकने की कोशिश में रिजर्व तेज गेंदबाज आवेश अपना अंगूठा चोटिल कर बैठे। चोट की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि आवेश इसके बाद दर्द से कराहते दिखे और भारतीय टीम के फिजियो के साथ मैदान से बाहर चले गये और फिर नहीं लौटे। विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में नाकामी के बाद निराशा झेल रहे पुजारा एक बार फिर नाकाम रहे और 47 गेंद में 21 रन बनाकर विकेटकीपर को कैच थमा बैठे। हनुमा विहारी ने 71 गेंद का सामना किया लेकिन वह भी 24 रन ही बना सके। अनुभवहीन गेंदबाजों के सामने 107 रन पर चौथा विकेट गंवाने के बाद भारतीय टीम मुश्किल में थी लेकिन राहुल और जडेजा की साझेदारी ने टीम को संभाला।

Related News

More Loader