LJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाए गए चिराग पासवान, सूरजभान सिंह को मिली जिम्मेदारी

पटना: दिवंगत नेता राम विलास पासवान द्वारा स्‍थापित लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में मचे सियासी घमासान के बाद चिराग पासवान को संसदीय दल के नेता के साथ-साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से भी हटा दिया गया है। एलजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में सूरजभान सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष चुना गया है। पटना में चिराग […]

dainiksaveratimes

June 15, 2021

రాష్ట్రీయ

1 min

zeenews

पटना: दिवंगत नेता राम विलास पासवान द्वारा स्‍थापित लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में मचे सियासी घमासान के बाद चिराग पासवान को संसदीय दल के नेता के साथ-साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से भी हटा दिया गया है। एलजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में सूरजभान सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष चुना गया है। पटना में चिराग के समर्थकों ने चाचा पशुपति कुमार पारस के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा शुरू कर दिया है।

चिराग ने चाचा के नाम बेहद भावुक ट्वीट कर कहा कि पापा की मौत के बाद आपके व्यवहार से टूट गया। मैं पार्टी और परिवार को साथ रखने में असफल रहा। चिराग ने एक पुराना पत्र भी ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा- ”पापा की बनाई इस पार्टी और अपने परिवार को साथ रखने के लिए किए मैंने प्रयास किया लेकिन असफल रहा। पार्टी मां के समान है और मां के साथ धोखा नहीं करना चाहिए। लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है। पार्टी में आस्था रखने वाले लोगों का मैं धन्यवाद देता हूं। एक पुराना पत्र साझा करता हूं।”
<a href="

उल्लेखनीय है कि लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के छह लोकसभा सदस्यों में से पांच ने, दल के मुखिया चिराग पासवान को संसद के निचले सदन में पार्टी के नेता के पद से हटाने के लिए हाथ मिला लिया है और उनकी जगह उनके चाचा पशुपति कुमार पारस को इस पद के लिए चुन लिया है। इसके बाद सोमवार को चिराग पासवान दिल्ली स्थित चाचा के आवास पर उनसे मिलने भी पहुंचे। यहां घर के बाहर पहुंचने के बाद करीब 20 मिनट तक गेट नहीं खोला गया जिस कारण चिराग को इंतजार करना पड़ा। 

தொடர்புடைய தலைப்புகள்

தொடர்புடைய செய்திகள்

More Loader