नारदा मामला: TMC के मंत्रियों की गिरफ्तारी पर बोले बंगाल विस अध्यक्ष- ये गैरकानूनी है

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने नारद मामले में बंगाल के दो मंत्रियों तथा अन्य लोगों की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताया और कहा कि राज्यपाल की मंजूरी के आधार पर CBI ने जो कदम उठाया है वह कानून संगत नहीं है।   बनर्जी ने कहा, ‘‘मुझे CBI की ओर से कोई पत्र नहीं […]

dainiksaveratimes

May 17, 2021

জাতীয়

1 min

zeenews

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने नारद मामले में बंगाल के दो मंत्रियों तथा अन्य लोगों की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताया और कहा कि राज्यपाल की मंजूरी के आधार पर CBI ने जो कदम उठाया है वह कानून संगत नहीं है।
 
बनर्जी ने कहा, ‘‘मुझे CBI की ओर से कोई पत्र नहीं मिला है और न ही प्रोटोकॉल के तहत आवश्यक मंजूरी मुझसे ली गई।’’  केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के नेता फरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी और मदन मित्रा के साथ पार्टी के पूर्व नेता शोभन चटर्जी को नारद स्टिंग मामले में कोलकाता में गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने इस बारे में बताया।
 
नारद स्टिंग मामले में कुछ नेताओं द्वारा कथित तौर पर धन लिए जाने के मामले का खुलासा हुआ था। हकीम, मुखर्जी, मित्रा और चटर्जी के खिलाफ मुकदमा चलाने की मंजूरी लेने के लिए सीबीआई ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का रुख किया था। वर्ष 2014 में कथित अपराध के समय ये सभी मंत्री थे। धनखड़ ने चारों नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी थी जिसके बाद CBI अपना आरोपपत्र तैयार कर रही है और उन सबको गिरफ्तार किया गया। बनर्जी ने कहा, ‘‘वे राज्यपाल के पास क्यों गए और उनकी मंजूरी क्यों ली, इसकी वजह मुझे नहीं पता। तब मैं कार्यालय में ही था। यह मंजूरी पूरी तरह से गैरकानूनी है और इस मंजूरी के आधार पर किसी को गिरफ्तार करना भी गैरकानूनी है।’’

সম্পর্কিত বিষয়গুলি

সম্পর্কিত খবর

More Loader